Moral Stories In Hindi For Class-1 – लोमड़ी ने शेर का किया खात्मा

Moral Stories In Hindi For Class-1 - लोमड़ी ने शेर का किया खात्मा

नमस्कार दोस्तों Hindi DNA मे आपका स्वागत है। आज हम Moral Stories In Hindi For Class-1 श्रेणी से एक मजेदार और काफी प्रचलित कहानी प्रकाशित करने जा रहे हैं। कहानी का नाम है लोमड़ी ने शेर का किया खात्मा। तो चलिए शुरू करते हैं।

Moral Stories In Hindi For Class-1 – लोमड़ी ने शेर का किया खात्मा

जंगल मे एक खुनखार शेर रहता था जो की रोज दूसरे जानवरों का शिकार करके खाता था। जंगल का राजा और सबसे ज्यादा ताकतबर होने का उसको काफी घमंड था। दूसरे जानवर उसके आस पास आने से भी काफी डरते थे।

जंगल मे अगर दूसरे जानवरों के बीच कोई झड़गा होता था तो सब शेर के पास जा के शिकायत करते थे और शेर जिसको दोषी पाता था उसे सजा देने के बहाने खा जाता था। इस तरह की मनमानी और क्रूरता से सारे जानवर काफी दहसद मे थे।

जंगल मे एक चालाक लोमड़ी भी रहती थी जिसे दूसरे जानवर भी काफी मानते थे। एक दिन सारे जानवर मिल के लोमड़ी के पास आते हैं और शेर की करतूत के बारे मे बोलते हैं। लोमड़ी सबकी बातें सुन कर कहती है की चिंता मत करो मैं कुछ उपाय निकालती हूँ।

जंगल में शेर काफी घमंडी था यह लोमड़ी को भी पता था। लोमड़ी शेर की इसी कमजोरी पर वार करने का सोचती है। एक रणनीति के तहत लोमड़ी सारे जानवरों को बोलती है की आज शाम को सारे भागते हुए मेरे साथ शेर के पास चलना।

शाम होते ही सारे भागते हुए शेर के पास जाते हैं और जा के लोमड़ी शेर को बोलती है की जंगल मे आपसे भी बड़ा और शक्तिशाली शेर आया है जो की सारे जानवरों का शिकार कर रहा है। ये बात सुन के शेर सोचता है अगर वो इन सारे जानवरों को खा जाएगा तो मैं तो भूखा मर जाऊंगा और ऐसा चलता रहा तो ये सब उस शेर को अपना राजा मान लेंगे।

कुछ देर सोचने के बाद शेर बोलता है की कहाँ है वो शेर मैं उसको मार दूंगा। फिर लोमड़ी बोलती है जंगल मे एक कुआं है उस कुएं के अंदर बैठ कर आराम कर रहा है।

शेर गुस्से मे तुरंत उस कुआं के पास भाग के जाता है। लोमड़ी और बाकी सारे जानवर भी शेर की पीछे पीछे कुएं की तरफ भागते हैं।

कुआं के पास जाकर जब शेर कुएं के अंदर झाँकता है तो कुएं के अंदर पानी होने के कारण शेर की एक प्रतिबिंब दिखता है। शेर प्रतिबिंब को देखकर उसे वही शेर समझ लेता है और जोर से दहाड़ता है। दहाड़ की गूंज जब कुएं के अंदर जाता है तो अंदर से भी वही गूंज टकरा के दुबारा सुनाई देता है।

शेर अपनी गूंज जो की टकरा के फिर से सुनाई दिया उसे दूसरे शेर की दहाड़ समझ लेता है और गुस्से अंदर छलांग मार देता है। अंदर जाके जब देखता है तो वहाँ कोई दूसरा शेर नहीं था। फिर वो गुस्से मे लोमड़ी को बोलता है तुमने मुझे धोखा दिया है मैं तुम सब को बाहर आ के खा जाऊंगा।

लोमड़ी और सारे जानवर हसते हुए बोलते हैं बाहर निकलोगे तब ना हमे खाओगे। शेर कुएं के अंदर से गुस्से मे बाहर निकलने की बहुत कौशिस करता है लेकिन कुआं काफी गहरा था इसीलिए वो कभी बाहर नहीं निकल सका और भूख से कुछ दिन बाद वहीं मर गया।

जंगल के सारे जानवर बहुत खुश थे और सब लोमड़ी का धन्यबाद कर रहे थे और सबने लोमड़ी को जंगल की रानी बनने का प्रस्ताव रखा। लोमड़ी भी खुशी से जंगल की रानी बन गयी और जब भी कोई संकट आता है किसी जानवर के ऊपर उसे अपनी चतुरता से हल कर देती है। पूरा जंगल अब स्वर्ग जैसा बन गया था।

Moral of the Story: इस कहानी से हमे ये सीखने को मिलता है की गुस्से और घमंड से लिए गये फैसले हमेशा नुकसान करते हैं। अतः हमे अपने किसी बात को लेकर घमंड नहीं करना चाहिये और गुस्से मे कोई काम नहीं करने चाहिये।

दोस्तों ये थी Moral Stories In Hindi For Class-1 श्रेणी से आज की कहानी Moral Stories for Kids in Hindi. आशा करता हूँ आपलोगों को कुछ सीखने को मिला होगा और कहानी को आपलोग आनंद उठाये होंगे।

इन Moral Stories को भी पढ़ें:

अगर आपको भी अपनी किसी कहानी या लेख हमारे ब्लॉग पर प्रकाशित करनी है तो हमें संपर्क करें और ये कहानी कैसी लगी या फिर कोई सुझाव देना है तो हमे कमेन्ट करके जरूर बताएं।

अपनों के साथ जरूर साझा करें:

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram
Share on pinterest
Pinterest
Share on tumblr
Tumblr
Share on email
Email

नवीनतम पोस्ट:

फॉलो जरूर करें:

श्रेणी चुने:

.
Hindi DNA

Hindi DNA

हिन्दी डीएनए आपकी ज्ञान को बढ़ाने के लिए है।

All Posts

1 thought on “Moral Stories In Hindi For Class-1 – लोमड़ी ने शेर का किया खात्मा”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नवीनतम पोस्ट:

श्रेणी चुने:

.

हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें