Moral Stories In Hindi For Class 9 – गधे और शेर की एक अजीब दोस्ती की कहानी

Moral Stories In Hindi For Class 9 – गधे और शेर की एक अजीब दोस्ती की कहानी

नमस्कार दोस्तों hindidna.com मे आपका स्वागत है। आज मैं जो कहानी Moral Stories In Hindi For Class 9 भाग से प्रकाशित करने जा रहा हूँ जो काफी दिलचस्प और सीख देने वाली कहानी है। कहानी का नाम है “गधे और शेर की दोस्ती”। तो चलिए शुरू करते हैं आज की कहानी।

Moral Stories In Hindi For Class 9 – गधे और शेर की दोस्ती

विकास नाम का एक लड़का एक कंपनी मे काम करता था। वो काफी मेहनती और ईमानदार कर्मचारी था। उसकी ईमानदारी और मेहनत देख कर बाकी सब कर्मचारी जलते थे।

एक दीन विकास लंच टाइम मे खाना खा रहा था। तभी उसको कुछ फुसफुसाहट सुनाई देता है। वो गौर से सुनने की कौशिस करता है और सुनता है की दो-तीन जन बात कर रहे थे विकास को बॉस जल्दी नौकरी से बाहर निकालने वाले हैं। ये सुन कर विकास चौक जाता है।

कुछ दिन बात बॉस उसे अपने कैबिन पर बुलाते हैं और पूछते हैं की क्या बात है विकास आजकल तुम्हारी काम की गति थोड़ा सुस्त हो गया है, कोई असुबिधा है क्या? – विकास बोलता है बॉस मैं काम करके भी क्या कर लूँगा?, वैसे भी आप तो मुझे नौकरी से निकालने वाले हैं।

विकास की बात सुन कर बॉस हैरान हो के पूछते हैं तुम्हें किसने बोला ये? विकास बोलता है कुछ दिन पहले मैंने सुना है 2-3 लोगों को बात करते हुए। बॉस विकास की बात सुन कर हसने लगते हैं और विकास को एक कहानी सुनाते हैं।

गधे और शेर की एक अजीब दोस्ती

Boss- एक जंगल मे एक शेर और एक गधा रहते थे। दोनों मे काफी ज्यादा दोस्ती थी। शेर रोज कोई ना कोई जानवर को मार के खाता था लेकिन गधा उसका दोस्त था इसीलिए उसके ऊपर कभी नजर नहीं डाला। ये देख कर दूसरे जानवर जलते और हैरान होते थे की शेर इस गधे को क्यों नहीं खाता।

एक दिन गधा पेड़ के नीचे बैठा था तभी एक लोमड़ी और खरगोस बात कर रहे थे की गधे की अबतक शादी नहीं हुई क्योंकि शेर सभी गधीयों को खा जाता है। ये सब सुनकर गधा बहुत ज्यादा गुस्सा हो जाता है और शेर के पास जा के उसे ये सब बोलता है। शेर को ये भी बोलता है की मैं तुम्हें और शिकार करने नहीं दूंगा।

जब भी शेर शिकार करने की कौशिस करता है गधा बाकी जानवरों को आगाह कर देता है। ऐसे मे शेर कोई भी शिकार नहीं कर पाता है। कुछ दिन तक शेर भूखा रहता है और गधे को ऐसे ना करने को कहता है। लेकिन गधा नहीं मानता है और आगे भी शेर को शिकार नहीं करने देता है। फिर एक दिन भूख के कारण शेर ने गधे का ही शिकार कर लेता है और उसे खा जाता है।

बॉस बोलते हैं- देखो विकास हमारे आस पास हर जगह लोमड़ियों की भरमार है जो हमारे कान भरते हैं और हमारे रिस्तें खराब करने की कौशिस करते हैं। हमे सोचना चाहिए की हम इनके बातों को कैसे लें और कैसे प्रतिक्रियाँ दें।

Moral of the Story: इस कहानी से हमे ये सीखने को मिलती है की कभी भी किसी के बातों मे आकार हमे तुरंत उसे मान नहीं लेना चाहिए। किसी को भी आँख मुंद कर भरोसा नहीं करना चाहिए।

इन्हें भी पढ़ें-

दोस्तों ये थी Moral Stories In Hindi For Class 9 भाग से आज की कहानी, आशा करता हूँ की आपलोगों को अच्छा लगा होगा और कुछ सीख भी मिली होगी। कहानी कैसी लगी हमे कमेन्ट करके जरूर बताइये।

अपनों के साथ जरूर साझा करें:

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram
Share on pinterest
Pinterest
Share on tumblr
Tumblr
Share on email
Email

नवीनतम पोस्ट:

फॉलो जरूर करें:

श्रेणी चुने:

.
Hindi DNA

Hindi DNA

हिन्दी डीएनए आपकी ज्ञान को बढ़ाने के लिए है।

All Posts

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नवीनतम पोस्ट:

श्रेणी चुने:

.

हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें