Biography of MS Dhoni in Hindi – महेंद्र सिंह धोनी की जीवनी

Biography of MS Dhoni in Hindi

Biography of MS Dhoni in Hindi: अकसर यें कहा जाता है की सफलता किस्मत से नही बल्कि खुद की कीमत समझने से मिलती है। ऐसी ही एक प्रतिभा का जन्म 7 जुलाई 1981 को रांची बिहार के ( आज के झारखंड) में हुआ।

भारत के सबसे सफल कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी किसी पहचान के मोहताज नही है। आज गली क्रिकेट से लेकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक शायद ही कोई ऐसा हो जो धोनी को न जानता हो। धोनी ने इस पहचान को पाने की खातिर बहुत मेहनत और पसीना बहाया है।

Biography of MS Dhoni in Hindi

धोनी का आरंभिक जीवन

धोनी का पैतृक निवास ,उत्तराखंड के अल्मोड़ा में लमगड़ा ब्लाक के लावली गाँव में है। बहुत समय पहले इनके माता- पिता काम की तलाश में उतराखंड से झारखंड, रांची आ गये थे।

धोनी के पिता पान सिंह Mecon में जूनियर मैनेजमेंट के तौर पर कार्य किया करते थे। धोनी के परिवार में माता-पिता के अलावा एक बहन और एक भाई है। बहन का नाम जयंती गुप्ता और भाई का नाम नरेन्द्र धोनी है। धोनी ने जवाहर विद्या मंदिर से अपनी प्रारंभिक पढ़ाई पूरी की।

बचपन में वो बैडमिंटन और फुटबॉल के दीवाने थे। धोनी अपनी स्कूल फुटबॉल टीम के गोलकीपर भी थे। एक बार उनके स्कूल के फुटबॉल कोच ने उन्हें विकेटकीपिंग के लिए किसी दूसरे स्कूल भेजा जहाँ अपनी अच्छी विकेटकीपिंग विकेट की बदौलत वो सबकी निगाहों में आ गए।

उनके खेल को देखते हुए कमांडो क्रिकेट क्लब ने उन्हें अपना नियमित विकेट कीपर रख लिया। क्लब क्रिकेट में अच्छे खेल की बदौलत उन्हें वीनू माकड़ क्रिकेट चैंपियनशिप राष्ट्रीय स्तर पर 1997-1998 में खेलने का मौका मिला।

1999-2000 में धोनी ने बिहार रणजी, फिर देवधर ट्राफी और उसके बाद टीम इंडिया A की तरफ से केन्या में खेल कर चयनकर्ताओं का ध्यान अपनी और आकर्षित किया। धोनी 2001 से 2003 तक बतौर टी.टी.ई रेलवे में अपनी सेवा दे चुके है।

यें बात 2004 की है जब उस वक़्त के तात्कालिक कप्तान सौरव गांगुली से पूछा गया की वो विकेट कीपर किसे बनाना चाहेंगे तो उन्होंने एकसुर में धोनी का नाम लिया। यें पहला मौका था जब 2004 में धोनी ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में पर्दार्पण किया।

धोनी का क्रिकेट करीयर एक नज़र में – (Biography of MS Dhoni in Hindi)

धोनी ने अब तक अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैचों में 347 मैच खेलकर 10773 रन बनाये है। उन्होंने अपनी सर्वश्रेष्ठ पारी 2005 में जयपुर के सवाई मान सिंह स्टेडियम में श्रीलंका के खिलाफ 183 रन खेली जो यादगार पारियों में याद की जाती है।

धोनी ने अब तक 318 कैच पकड़े हैं और 120 स्टम्पिंग की है। वही टेस्ट क्रिकेट में धोनी ने 90 टेस्ट में 4876 रन बनाए है। धोनी को अपनी आक्रमक पारी ,फिनिशिंग स्टाइल और जोरदार शॉट्स के लिए जाना जाता है।

धोनी ने अपनी कप्तानी में भारत को लगभग सभी ट्रोफीयां जीतवाई फिर चाहे 2007 का टी-20 वर्ल्ड कप हो ,या 2011 का वर्ल्ड कप ,या फिर 2013 की ICC चैंपियनशिप, सभी में उन्होंने फिनिशिंग मैन की भूमिका निभाई है।

धोनी के खेलने की कला मैच के हालात पर निर्भर करती थी ,जहाँ तेज खेलना वो वहाँ वो तेज खेलते थे ,और जहाँ विकेट पर रुकना हो वहाँ संयम से खेलते थे।

शाक्षी संग विवाह सूत्र – (MS Dhoni Biography in Hindi)

धोनी को कॉलेज के दिनों से एक प्रियंका नाम की लड़की से प्यार था, ऐसा उनके परिचित बताते है परन्तु एक कार एक्सीडेंट में प्रियंका का देहांत हो गया। धोनी कुछ पल के लिए टूट गए फिर उन्होंने किसी तरह अपने आपको संभाला।

यें बात 2007-2008 की है जब धोनी को पाकिस्तान के साथ सीरीज के लिए कप्तान बनाया गया था। धोनी कोलकाता के जिस होटल में ठहरे थे उसी होटल में उनकी मुलाकत साक्षी नामक लड़की से हुई। धोनी पहली मुलाक़ात में ही शाक्षी को दिल दे बैठें।

जिस दिन टीम इंडिया को पाकिस्तान के साथ मैच खेलना था उसी दिन शाक्षी का इंटर्नशिप का आखरी दिन था। दरासल धोनी जिस होटल में ठहरे थे वो उसी होटल में इंटर्नशिप कर रही थी। युद्ध जीत दत्ता जो होटल की मैनेजर थी उन्होंने ही शाक्षी की मुलाकात धोनी से करवाई थी।

शाक्षी के जाने के बाद धोनी ने उनका पता निकाला और उन्हें डेट के लिए मनाने लगे। अंततः 3 साल एक दूसरे को डेट करने के बाद 2010 में दोनों के शादी कर ली। आज धोनी की एक 5 साल की बेटी है जिसका नाम जीवा है।

धोनी का क्रिकेट से रिटायरमेंट – ( Biography of MS Dhoni in Hindi )

धोनी ने 15 अगस्त 2020 को क्रिकेट के सभी प्रारूप से संन्यास ले लिया। 16 साल के लंबे क्रिकेट करियर को जब धोनी ने अलविदा कहा तो हर किसी की आँखे नम थी।

ये वही धोनी थे जिसके लंबे बाल ,जिसका ताकतवर शॉट, और जिसकी चीते सी फुर्ती सबको याद आ रही थी। 2011 में जब उन्होंने वर्ल्ड कप भारत की झोली में डाला वो पल अविस्मर्णीय था। इंडियन आर्मी ने उन्हें 2011 में उनकी सेवाओं के लिए मानद लेफ्टिनेंट कर्नल की उपाधि से सम्मानित किया।

धोनी की कुछ असाधारण उपलब्धियाँ

 • उनकी प्रतिभा और योगदान को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने उन्हें 2007 में खेल के सबसे बड़े पुरुस्कार राजीव गांधी खेल रत्न से नवाजा।

• भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान के लिए उन्हें 2009 में पद्मश्री और 2018 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।

• साल 2011 में धोनी को डी मोंटफोर्ट विश्वविद्यालय (De Montfort University) द्वारा मानद डॉक्टरेट की डिग्री दी गई थी. इसके अलावा धोनी दो बार आईसीसी प्लेयर ऑफ़ द ईयर ,कई बार मैंन ऑफ द मैच भी रह चुके है।

आप पढ़ रहे थे Biography of MS Dhoni in Hindi

ये भी पढ़ें:

Ratan Rata Biography in Hindi – रतन टाटा जीवनी
Cristiano Ronaldo Biography in Hindi – जीवन परिचय

अपनों के साथ जरूर साझा करें:

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram
Share on pinterest
Pinterest
Share on tumblr
Tumblr
Share on email
Email
Hindi DNA

Hindi DNA

हिन्दी डीएनए आपकी ज्ञान को बढ़ाने के लिए है।

All Posts

हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें

Scroll to Top