Stories in Hindi Horror – जंगल मे बिना सिर के भूतों के साथ नाच

Stories in Hindi Horror – जंगल मे बिना सिर के भूत

नमस्कार दोस्तों hindidna.com मे आपका स्वागत है। आज मैं Stories in Hindi Horror श्रेणी से आपलोगों को एक ऐसी भूतिया कहानी प्रकाशित करने जा रहा हूँ जो आपको डरा देगी।

Stories in Hindi Horror – जंगल मे बिना सिर के भूत

कहानी पश्चिम बंगाल की एक छोटी सी गाँव की है। उस गाँव मे 100 -200 लोग रहते थे। गाँव मे मोहन नाम का एक लड़का लड़का भी रहता था जो काफी घुमता फिरता था। आस पास के जंगलों मे जाके वो आम, बेर, जामुन इत्यादि लाया करता था। उसकी ये आदत लगभग गाँव के हर आदमी को पता था।

एक दिन वो हमेशा की तरह बारिश के दिनों मे जामुन लेने जंगल चला जाता है और बहुत सारे जामुन वो घर ले के आता है। घर मे और गाँव मे भी वो लोगों को जामुन देता है। उस रात यूं हुआ की वो अचानक रात के 1-1.30 बजे बिस्तर से उठ कर जंगल की और जाने लगता है।

घर मे उसके माँ दरवाजा खोलने की आवाज सुनी थी, लेकिन वो सोची शायद मोहन पेसाब करने गया होगा। लेकिन मोहन की माँ जब कुछ देर तक मोहन के आने की आवाज नहीं सुनी तो वो मोहन के पिता को बुलाती है और इस बारे मे उन्हे बताती है। पहले तो मोहन के पिता बात को टाल देते हैं लेकिन जब मोहन आधा घंटा तक घर मे नहीं घुसता तो वो लोग चिंतित हो जाते हैं।

मोहन को खोजने के लिए उसके माता-पिता घर से निकलते हैं। रात के 1-2 बजे इतनी अंधेरा और ऊपर से बरसात का महीना, मंजर को काफी डरावना बना रही थी। दोनों ने घर के आस पास मोहन को खोजने की कौशिस की लेकिन मोहन नहीं मिल रहा था। फिर मोहन के माता-पिता पोड़ोस के 2 लोगों को बुला कर जंगल की तरफ जाते हैं।

जंगल के थोड़ा अंदर जाते ही उन्हे जो देखने को मिलता है वो देख के सारे बहुत ज्यादा डर जाते है। वो लोग देखते हैं की मोहन कुछ बिना सिर वाले भूतों के साथ नाच रहा है। मोहन का चेहरा भी काफी डरावना दिख रहा था। ये सब मंजर देख कर उन लोगों के पसीने छूट जाते हैं। उन लोगों मे से किसी की हिम्मत नहीं हुई की पास जाके मोहन को बुलाए।

फिर वो सारे लोग निर्णय करते हैं की गाँव जो की जंगल से सटा हुआ था, जाके 50-60 लोगों को मशाल के साथ बुला के लाते हैं। तुरंत वो लोग गाँव से लोगों को बुला के लाते हैं और जब आ के देखते हैं तो भूत वहाँ से गायब हो चुके थे और केवल मोहन अकेला बेहोश हो के वहाँ पड़ा हुआ था। महोन के माता-पिता उसे बेहोशी की हालत मे उठा के गाँव ले के आते हैं और सुबह होने का इंतिज़ार करते हैं।

सुबह होते ही पास के एक भूत भगाने वाले तांत्रिक को बुला के लातें हैं। जब वो तांत्रिक मोहन को आ के ठीक करने की कौशिस करता है तो मोहन अचानक आँख खोलता है और तांत्रिक के ऊपर हमला कर देता है। फिर तांत्रिक कुछ पूजा पाठ करके उसके अंदर जो बुरी आत्मा प्रवेश कर गई थी उसे निकाल देता है। अब अचानक मोहन पहले जैसे हो जाता है। तांत्रिक मोहन के माता-पिता को बोलते हैं की जंगल के एक आत्मा उसके अंदर प्रवेश कर गई थी मैंने उसे निकाल दिया है। आपलोग इसे जंगल जाने मत देना क्योंकि दुबारा ऐसा हो सकता है।

मोहन के माता पिता और गाँव के लोग मोहन के ठीक हो जाने के कारण खुश हो जाते हैं। लेकिन अभी भी मोहन के माता-पिता और उनके साथ जो दो लोग मोहन को खोजने जंगल गये थे उसे देख कर डर रहे थे क्योंकि जो मंजर वो चारों ने जंगल मे देखा था उसे इतनी जल्दी भूलना इतना आसान नहीं था।

इन्हें भी पढ़ें:

दोस्तों ये थी Stories in Hindi Horror श्रेणी से आज की भूतिया कहानी। आशा करता हूँ आप लोगों को इसे पढ़ के मजा आया होगा।

अगर आप भी अपनी कोई कहानी या फिर कोई आर्टिकल हमारे वेबसाईट पर प्रकाशित करना चाहते हैं तो हमे admin@hindidna.com पर मेल करें और आज की कहानी कैसी लगी हमे कमेन्ट करके जरूर बताएं।

अपनों के साथ जरूर साझा करें:

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram
Share on pinterest
Pinterest
Share on tumblr
Tumblr
Share on email
Email
Hindi DNA

Hindi DNA

हिन्दी डीएनए आपकी ज्ञान को बढ़ाने के लिए है।

All Posts

1 thought on “Stories in Hindi Horror – जंगल मे बिना सिर के भूतों के साथ नाच”

Comments are closed.

हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें

Scroll to Top

दोस्तों, हमने आपके लिए एक नया YouTube चैनल बनाया है।

Video जरूर देखें और Like, Comment, Subscribe करके हमारा हौसला जरुर बढ़ाएं!